KSEEB Class 8 Hindi अर्थग्रहण

In this chapter, we provide KSEEB SSLC Class 8 Hindi अर्थग्रहण for English medium students, Which will very helpful for every student in their exams. Students can download the latest KSEEB SSLC Class 8 Hindi अर्थग्रहण pdf, free KSEEB SSLC Class 8 Hindi अर्थग्रहण pdf download. Now you will get step by step solution to each question.

Karnataka State Syllabus Class 8 Hindi अर्थग्रहण

Karnataka State Syllabus Class 8 Hindi अर्थग्रहण

1. गद्यांश को पढ़कर निम्न प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

करीब सौ साल पहले की बात है। एक गरीब लड़का अपने गाँव के कुछ व्यापारियों के साथ व्यापार करने चल पड़ा। उस लड़के की माँ ने उसकी जेब में चालीस रुपये रखकर, हमेशा सच बोलने के लिए कहा। रास्ते में कुछ डाकुओं ने व्यापारियों को घेरकर लूट लिया। लड़के से पूछने पर वह सब बता दिया। लेकिन डाकुओं को विश्वास नहीं हुआ। उसे सरदार के पास ले गये। तलाशी लेने पर सचमुच उसकी जेब से चालीस रुपये निकले। लड़के की सच्चाई को देखकर सरदार खुश हो गये और उसे बहुत सारा धन देकर भेज दिया।

प्रश्नः

  1. लड़का व्यापारियों के साथ कहाँ जा रहा था?
  2. लड़के की माँ ने उसे क्या उपदेश दिया?
  3. सरदार क्यों खुश हुआ?
  4. लड़के को सच्चाई का क्या फल मिला?

उत्तरः

  1. लड़का व्यापारियों के साथ व्यापार करने जा रहा था।
  2. लड़के की माँ ने लड़के को हमेशा सच बोलने का उपदेश दिया।
  3. लड़के की सच्चाई देखकर सरदार खुश हुआ।
  4. उसे सरदार से खूब धन मिला।

2. गद्यांश को पढ़कर निम्न प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

एक समुद्री डाकू था। उसे बड़ा घमंड था कि वह समुद्र के सभी मार्गों की जानकारी रखता है। समुद्र में एक चट्टान पर खतरे की सूचना देने के लिए एक झंडी गड़ी थी। डाकू ने उसे उखाड़ कर फेंक दिया। उसने सोचा कि इससे दूसरों को हानि होगी। मगर एक दिन खुद उसका अपना जहाज़ तेज गति से आकर पानी में छिपी उस चट्टान से टकरा कर चूर-चूर हो गया। डाकू अपनी करनी पर पछताता हुआ डूबकर मर गया। सच है, जैस करनी वैसी भरनी।

प्रश्नः

  1. खतरे को सूचित करने के लिए क्या किया गया था?
  2. डाकू ने क्या किया?
  3. जहाज़ चट्टान से क्यों टकराया?
  4. परिणाम क्या हुआ?

उत्तरः

  1. खतरे को सूचित करने के लिए एक चट्टान पर एक झंडी गड़ी थी।
  2. डाकू ने झंडी उखाडकर फेंक दिया।
  3. झंडी नहीं होने से डाकू को चट्टान का पता न चला। जहाज चट्टान से टकरा गया।
  4. जहाज के साथ साथ डाकू भी डूबकर मर गया।

3. गद्यांश को पढ़कर निम्न प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

प्रत्येक स्वतंत्र देश का अपना राष्ट्रीय झंडा होता है। देश के सभी निवासी अपने झंडे का गौरव बनाये रखना अपना कर्तव्य समझते हैं। वे उसके नीचे उन्नति के पथ पर बढ़ते है, उसे अपने देश तथा राष्ट्र की महानता का प्रतीक समझते हैं और उसके गौरव की रक्षा के लिए हँसते हुए अपने प्राण तक न्योछावर कर देते हैं।

प्रश्नः

  1. प्रत्येक स्वतंत्र देश का क्या होता है?
  2. देश के निवासी किसे अपना कर्तव्य समझते हैं?
  3. वे झंडे को क्या समझते हैं?
  4. झंडे के गौरव की रक्षा के लिए क्या करना हैं?

उत्तरः

  1. प्रत्येक स्वतंत्र देश का अपना राष्ट्रीय झंडा होता है।
  2. देश के निवासी अपने झंड़े का गौरव बनाये रखना अपना कर्तव्य समझते हैं।
  3. वे झंडे को राष्ट्र की महानता का प्रतीक समझते हैं।
  4. हमें झंडे के गौरव की रक्षा के लिए हँसते हुए अपने प्राण तक न्योछावर करना हैं।

4. निम्न परिच्छेद पढ़कर प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

मनुष्य को जीने के लिए तीन चीजों की आवश्यकता होती हैं। वायु, जल तथा खुराक। इनके बिना मानव जी नहीं सकता। इनके साथ-साथ तन्दुरुस्ती के लिए व्यायाम की भी आवश्यकता होती है। इनके अलावा मनुष्य के जीवन में मनोरंजन का स्थान बहुत महत्त्वपूर्ण होता है।

प्रश्नः

  1. मनुष्य को जीने के लिए कितनी चीजों की आवश्यकता होती है?
  2. मानव किन-किनके बिना जी नहीं सकता?
  3. तन्दुरुस्ती के लिए किसकी आवश्यकता होती है?
  4. जीवन में किसका स्थान बहुत महत्त्वपूर्ण होता है?

उत्तरः

  1. मनुष्य को जीने के लिए तीन चीजों की आवश्यकता है।
  2. मानव वायु, जल तथा खुराक के बिना जी नहीं सकता।
  3. तंदुरुस्ती के लिए व्यायाम की आवश्यकता होती है।
  4. जीवन में मनोरंजन का स्थान बहुत महत्वपूर्ण होता है।

5. निम्न परिच्छेद पढ़कर प्रश्नों के उत्तर लिखिए :

नागालैण्ड भारत का छोटा राज्य है, जिसकी स्थापना 13 फरवरी सन् 1961 में हुई। यह असम के पूर्व और मणिपुर के उत्तर में स्थित है। सारा ही प्रदेश पर्वतीय है। यहाँ वर्षा भी काफी होती है, जिसके फलस्वरूप पहाड़ों पर सीढ़ीनुमा खेतों में अच्छी उपज होती है। नागालैण्ड में चारों ओर प्रकृति का मोहक दृश्य दिखाई पड़ता है।

प्रश्नः

  1. नागालैण्ड कहाँ स्थित है?
  2. नागालैण्ड की स्थापना कब हुई?
  3. नागालैण्ड में वर्षा क्यों काफी होती है?
  4. नागालैण्ड में कैसा दृश्य दिखाई पड़ता है?

उत्तरः

  1. नागालैण्ड असम के पूर्व और मणिपुर के उत्तर में स्थित है।
  2. नागालैण्ड की स्थापना 13 फरवरी 1961 में हुई।
  3. सारा ही प्रदेश पर्वतीय है। इसलिए वर्षा भी काफी होती है।
  4. नागालैण्ड में चारों ओर प्रकृति का मोहक दृश्य दिखायी पड़ता है।

All Chapter KSEEB Solutions For Class 8 Hindi

—————————————————————————–

All Subject KSEEB Solutions For Class 8

*************************************************

I think you got complete solutions for this chapter. If You have any queries regarding this chapter, please comment on the below section our subject teacher will answer you. We tried our best to give complete solutions so you got good marks in your exam.

If these solutions have helped you, you can also share kseebsolutionsfor.com to your friends.

Best of Luck!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.