KSEEB Solutions For Class 10 Hindi पूरक वाचन Chapter 2 सत्य की महिमा

In this chapter, we provide KSEEB SSLC Class 10 Hindi पूरक वाचन Chapter 2 सत्य की महिमा for English medium students, Which will very helpful for every student in their exams. Students can download the latest KSEEB SSLC Class 10 Hindi पूरक वाचन Chapter 2 सत्य की महिमा pdf, free KSEEB SSLC Class 10 Hindi पूरक वाचन Chapter 2 सत्य की महिमा pdf download. Now you will get step by step solution to each question.

Karnataka State Syllabus Class 10 Hindi पूरक वाचन Chapter 2 सत्य की महिमा

सत्य की महिमा Questions and Answers, Notes, Summary

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिए —

प्रश्न 1.
‘सत्य’ क्या होता है? उसका रूप कैसे होता है?
उत्तर:
सत्य बहुत भोला-भाला सीधा-सादा, जो कुछ भी आँखों से देखा बिना नमक मिर्च लगाये बौल दिया। यही तो सत्य है। सत्य दृष्टि का प्रतिबिम्ब है, ज्ञान की प्रतिलिपी है और आत्मा की वाणी है।

प्रश्न 2.
झूठ का सहारा लेते हैं तो क्या क्या सहना पड़ता है ?
उत्तर:
झूठ का सहारा लेते हैं तो उस एक झूठ को साबित करने के लिए हजारों झूठ बोलने पड़ते हैं। और कहीं पोल खुली तो मुँह काला करना पड़ता है, अपमानित होना पड़ता है।

प्रश्न 3.
शास्त्र में सत्य बोलने का तरीका कैसे समझाया जाता है?
उत्तर:
किसी को परेशान करने, दुखी करने के उद्देश्य से सत्य बोलना नहीं चाहिए। सत्य बोलने का तरीका शास्त्र में इस तरह समझाया गया है कि ‘सत्यं ब्रूयात्, प्रियं ब्रूयात्, न ब्रूयात् सत्यमप्रियम’ अर्थात् सच बोलो, जो दूसरों को प्रिय लगे, अप्रिय सत्य मत बोलो।।

प्रश्न 4.
“संसार के महान व्यक्तियों ने सत्य का सहारा लिया है” सोदाहरण समझाइए।
उत्तर:
संसार में जितने महान् व्यक्ति हुए, सबै ने सत्य का सहारा लिया है। सत्य का पालन किया है। राजा हरिश्चन्द्र की सत्य निष्ठा विश्व विख्यात है। उन्हें सत्य मार्ग पर चलते अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, लेकिन उनकी कीर्ति आज भी सूरज की रोशनी से कम प्रकाशमान नहीं है। राजा दशरथ ने सत्य वचन निभाने के लिए अपने प्राण त्याग दिए। महात्मा गाँधीजी ने सत्य की शक्ति से ही विदेशी शासन को झकझौर दिया।

प्रश्न 5.
महात्मा गाँधी का सत्य की शक्ति के बारे में क्या कथन है ?
उत्तर:
महात्मा गाँधी का सत्य की शक्ति के बारे में यह कथन है कि- “सत्य एक विशाल वृक्ष है। उसका जितना आदर किया जाता है, उतने ही फल उसमें लगते हैं। उनका अन्त नहीं होता।”

प्रश्न 6.
झूठ बोलनेवाले की हालत कैसी होती है?
उत्तर:
कभी कभी झूठ बोल देने से कुछ क्षणिक लाभ अवश्य होता है, पर उससे अधिक हानि ही होती है। क्षणिक लाभ विकास के मार्ग के लिए बाधा बन जाता है। झूठ बोलनेवालों का व्यक्तित्व कुंठित होता है। झूठ बोलनेवालों से लोगों का विश्वास उठ जाता है। उन्नति के द्वार बन्द हो जाते हैं।

प्रश्न 7.
हर स्थिति में सत्य बोलने का अभ्यास क्यों करना चाहिए?
उत्तर:
सत्य की महिमा अपार है। सत्य महान और बडी शक्तिशाली है। सत्य की ही विजय होती है, असत्य की नहीं। सत्य की नाद से ही भवसागर का संतरण कर सकते है। सत्य वह चिनगारी है। जिससे असत्य पलभर में भस्म हो जाता है। इसलिए हर स्थिति में सत्य बोलने का अभ्यास करना चाहिए।

सत्य की महिमा Summary in English

The Importance Of Truth Summary in English :

The truth is innocent and simple. We have to describe the events as they are, without ‘describing with unnecessary adjectives. It is a mirror of our knowledge and soul.

We require a clean and clear mind to tell the truth. Talking false is always very bad. If the truth is known to anybody, we will be insulted. We should not use the truth to disturb others. Telling the truth should not lead to unhappiness. So there is a saying that the truth which brings happiness to the listener is the best truth. Unhappy truth should not be encouraged by anybody.

All the great people of the world are always people of truth with their truthful behaviour. The truthfulness of King Harishchandra is world-famous. While following the truth, such people face many odds and difficulties. But they are not afraid of them. Even the king Dasharath of the Ramayana kept-up his promise for the sake of truth. He gave up his life for the sake of truth. Even Mahatma Gandhiji followed the truth to send out the British from India.

The truth is like a big tree. It gives shelter to all those who speak the truth. We should try our best to speak the truth since our childhood days. Talking false may be beneficial for a moment. But it always leads to unnecessary difficulties. People don’t believe the persons who are after falsehood.

The truth is always powerful and so it becomes popular. The truth is like a matchstick, it burns the untruth in a fraction of a second. So we should always speak the truth in our life.

All Chapter KSEEB Solutions For Class 10 Hindi

—————————————————————————–

All Subject KSEEB Solutions For Class 10

*************************************************

I think you got complete solutions for this chapter. If You have any queries regarding this chapter, please comment on the below section our subject teacher will answer you. We tried our best to give complete solutions so you got good marks in your exam.

If these solutions have helped you, you can also share kseebsolutionsfor.com to your friends.

Best of Luck!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.